Home मौलिक तथ्य स्वस्थ जीवन के लिए सहज योग
स्वस्थ जीवन के लिए सहज योग पीडीएफ़ मुद्रण ई-मेल
( 57 Votes )
द्वारा लिखित blossomtimes.org   
गुरुवार, 28 जनवरी 2010 11:27

जबरदस्त अग्रिम में चिकित्सा विज्ञान पिछले पांच दशक मे बनाया गया, पर यह समग्र दृष्टिकोण अपनाने की दिशा में विफल रहा, क्योकि इसमे गंभीर रोगों के उपचार कि कुछ सीमा थी. और हालांकि ओपन हार्ट सर्जरी और गुर्दा प्रत्यारोपण में महान सफलता प्राप्त की गई है पर कुछ सामान्य मनोदैहिक माइग्रेन, दमा, मिरगी या कैंसर जो वास्तव में वृद्धि कर रहे हैं ऐसे रोगों का हमे कोई इलाज नहीं मिला है

कई आधुनिक चिकित्सा इन दिनों अभ्यास कर रहे हैं,जैसे एक्यूपंक्चर सम्मोहन, क्वांटम चिकित्सा आदि. हालांकि इन तरीकों को छोड़कर प्रकृति में योग विधिया भी है,जिसमे दोनों शारीरिक और मानसिक मानव के पहलू है और जिसको जबरदस्त गति से दुनिया दर्शन बनाया गया है. तथापि दुर्भाग्य से पैसे के लिए यह योग संगठन स्थापित किये गये है और इस प्रक्रिया को एक बहुत अच्छा नाम दिया गया है वह है:'योग'.

 

जयेन वरेन ने अपनी पुस्तक "योग और हिंदू परंपरा" में उल्लेख किया है कि पश्चिम में योग को भौतिक विज्ञान मे गलत रूप में समझा गया है ,केवल साँस लेने के व्यायाम. शारीरिक प्रशिक्षण के कुछ प्रकार मे,यह वास्तव में "योग कम बेईमानी है" शब्द "योग" संस्कृत शब्द "युज" से उत्पन्न हुआ है जिसका अर्थ "एकजुट". योग का वास्तविक अर्थ है संघ की मौलिक ऊर्जा "कुंडलिनी" के साथ सभी कॉस्मिक ऊर्जा सर्वव्यापी.

 

पतंजलि योग सूत्र के सबसे आवश्यक के रूप में योग का उल्लेख किया मानसिक तकनीक की उच्च स्थिति के लिए, शरीर और मन का निर्माण करने की गतिविधि और चेतना के लिये. इसी संदर्भ में "कांपनेवाली" जागरूकता सहज योग के अभ्यास के द्वारा विकसित की गयी है इसके द्वारा कई मानसिक रोगों इलाज हो रहा है. मूलतः मार्कंडेय पुराण में सदियों पहले वर्णित किया, और श्री माताजी निर्मला देवी द्वारा फिर से इस बारे मे वर्णित किया गया,कि सहज योग ध्यान हमें सिखाता है हमारे अपने दिव्य ऊर्जा (कुंडलिनी)को उपर जगाने और छह चक्रो को पार करते हुये, सिर के ऊपर से बाहर निकल कर परम शक्ति से मिलाता है.

 

अपने पाठ्यक्रम के दौरान हमने यह जाना कि यह हमारी ऊर्जा केंद्रों की रुकावटें साफ करता है और मस्तिष्क के लिम्बिक क्षेत्र में वास्तविकता प्रदान करता है और उच्च स्तर में चेतना कि एक दिव्य दृष्टि विकसित करने के लिए मदद करता है एक कांपनेवाली जागरूकता. यह कांपनेवाली जागरूकता हमें मदद करती है संतुलन में रहने के लिए और सभी रोगों से मुक्त करने के लिये.

 

सहज-योग के कुछ दावों को सत्यापित करने के लिए प्रणालीगत शोध अध्ययन फिजियोलॉजी और चिकित्सा विभाग के लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज मे आयोजित किया और मार्गदर्शन किया गया. एसोसिएटेड अस्पतालों मे एच. एच. श्री. माताजी निर्मला देवी, स्व: प्रो.डॉ. यू .सी.राय और उनकी टीम द्वारा नई दिल्ली में. अनुसंधान परियोजनाओं का अध्ययन भी किया गया.

 

१. कुंडलिनी की जागृति का शारीरिक प्रभाव सहज योग के द्वारा, मानव शरीर पर.

२. मनोदैहिक रोगों के मरीजों पर सहज योग अभ्यास के प्रभाव.

३. मिरगी के प्रबंधन में सहज योग की भूमिका.

 

तीसरे अनुसंधान परियोजना को संयुक्त रूप से लिया गया रक्षा संस्थान के फिजियोलॉजी और विज्ञान, नई दिल्ली के साथ.

 

सभी तीन परियोजनाओं पर अनुसंधान डॉक्टरेट थीसिस विधिवत अनुमोदित किया गया दिल्ली विश्वविद्यालय के द्वारा. अध्ययन के दौरान भारत में सहज-योग से पिछले दस वर्षों में कई और अधिक विवरण एकत्र किया गया प्रो के द्वारा. डॉ. शोभा दास, लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज, नई दिल्ली, डॉ. मनोचा ऑस्ट्रेलिया से, आफ्तनस और गोलोचेइकिन रूस से यह सब दूरगामी प्रासंगिकता है, जो क्रन्तिकारी परिवर्तन लाये मानव शरीर की समझ और रोगों से सावधानियो मे.

 

इसके अलावा शोध कार्य के द्वारा स्पष्ट रूप से दिखाया गया कि एक सहायक उपचार कितना आवश्यक है कई रोगों उच्च रक्तचाप, ब्रोन्कियल, अस्थमा, माइग्रेन, मिरगी और तनाव जैसे विकारों से रक्षा के लिये. कई रोगियों जिनको असाध्य रोगों जैसे दिल सम्बन्धित, कोलेजन रोग, कैंसर, अल्जाइमर और कुछ आनुवंशिक रोग और ऑटो प्रतिरक्षा रोगो से बचाव मे काफी लाभकारी सिद्ध हुआ है.

 

मानवता के लाभान्वित के लिये एच एच श्री माताजी निर्मला देवी ने दुनिया के प्रसिद्ध आध्यात्मिक वैज्ञानिक, अंतर्राष्ट्रीय सहज - योग और C.B.D में स्वास्थ्य केन्द्र अनुसंधान,बेलापुर, नवी मुम्बई मे स्थापित किया है. यह स्वास्थ्य केन्द्र हरे भरे वातावरण में बना हुआ है, और यह केन्द्र अपने आप में पूरी दुनिया में अद्वितीय है क्योंकि यहाँ कोई दवाओं का इस्तेमाल नही किया जाता केवल 'कांपनेवाली जागरूकता, द्वारा ही इलाज किया जाता है और यह केवल सहज योग अभ्यास के द्वारा ही विकसित किया जा सकता है, यहा कई रोगियों के रोगों का इलाज हो रहा है.

LAST_UPDATED2
 

श्री माताजी

Shri Mataji Nirmala Devi

Upcoming Events

October 2017
S M T W T F S
1 2 3 4 5 6 7
8 9 10 11 12 13 14
15 16 17 18 19 20 21
22 23 24 25 26 27 28
29 30 31 1 2 3 4

Poll

What does Meditation do for you?
 
stack